9

जानिए ताऊ और भारत मंच कि पहेली का जवाब

ताऊ पहेली ९५ का जवाब -- आप भी जानिए
http://chorikablog.blogspot.com/2010/10/blog-post_9974.html

भारत प्रश्न मंच कि पहेली का जवाब
http://chorikablog.blogspot.com/2010/10/blog-post_8440.html


अगर सही जवाब अभी भी समझ नहीं आया तो .... कल सुबह का इंतजार करे .... कल स्पष्ट जवाब पोस्ट कर दिया जायेगा


9 टिप्पणियाँ:

बंटी चोर ने कहा…

अगर सही जवाब अभी भी समझ नहीं आया तो .... कल सुबह का इंतजार करे .... कल स्पष्ट जवाब पोस्ट कर दिया जायेगा

बंटी चोर ने कहा…

अगर सही जवाब अभी भी समझ नहीं आया तो .... कल सुबह का इंतजार करे .... कल स्पष्ट जवाब पोस्ट कर दिया जायेगा

बंटी चोर ने कहा…

11

बंटी चोर ने कहा…

अगर सही जवाब अभी भी समझ नहीं आया तो .... कल सुबह का इंतजार करे .... कल स्पष्ट जवाब पोस्ट कर दिया जायेगा

बंटी चोर ने कहा…

अगर सही जवाब अभी भी समझ नहीं आया तो .... कल सुबह का इंतजार करे .... कल स्पष्ट जवाब पोस्ट कर दिया जायेगा

इंदु पुरी गोस्वामी ने कहा…

अरे बन्टिये ! तू मेरे हाथ से मार खायेगा सच्ची कह रही हूँ.जवाब क्या ख़ाक दूँ तेरे प्रश्न का ? प्रश्न है किस जगह पोस्ट किया हुआ ये तो बता.
और देख मुझसे नाराज न होना जैसा तुने हुकुम किया था मैंने तो वो ही किया देख उपर लिखा है ना 'अगर गाली देने का मन कर रहा है तो रुकिए मत ... शुरू हो जाईये' सो मैं शुरू हो गई.अब मैं ठहरी सबको प्यार और खूब प्यार करने वाली औरत..किसी का दिल नही दुखाती तो तेरा कैसे दुखाती? यूँ भी तू चोर और मैं....'पुतली बाई' नाम सुना है कभी? नही? चल कोई बात नही.तुझे प्यार.

इंदु पुरी गोस्वामी ने कहा…

सोरी.मैं किसी को हर्ट नही करना चाहती.मेरा उद्देश्य मात्र आपके चेहरे पर स्माइल लाना था और मैं समझती हूँ आप जरूर मुस्कराए होंगे फिर भी मेरी बात जो यूँ एक मजाक ही है उस से आपका दिल दुखी हुआ हो तो मुझे माफ कर दीजियेगा. सोरी बंटी भाई!

Kaushal ने कहा…

bunty maal tayaar hai blog par aakar chori kar

Kaushal ने कहा…

bunty bhai link to bataya hi nahi thaa
purviya.blogspot.com/

एक टिप्पणी भेजें

1. टिपण्णी देने में आप जैसे चाहे शब्दों का इस्तेमाल कर सकते है,
आप अपनी भड़ास यहाँ पर निकाल सकते है ...
************************************************************
2. आप अपनी बात कहे, आपके द्वारा इस्तेमाल की गयी भाषा ही
आप का चरित्र उजागर करती है ...
************************************************************
3. आप लोगो से जैसी भाषा की उम्मीद करते है उसी भाषा में
अपनी बात कहे ...
************************************************************
4. Modration लगाने से आपकी कही बात दुसरो की समझ की
मोहताज ही जाती है ...
************************************************************
5. असभ्य भाषा की तिप्प्निया हटा दी जाएँगी यदि किसी को
कोई आपत्ति हो तो ..
************************************************************
6. Modration लगाने का फैसला आप के द्वारा किये गए कमेन्ट
पर निर्भर करता है ...

Back to Top