11

जानिए ताऊ पहेली - 94 का जवाब


दो हिंट है .....

१. फोटो को बड़ा करके देखने के लिए .... फोटो पर क्लिक करे

२. जिस घर में गाँधी ने अपने अन्तिम ४ महीने बिताएं वह आज एक स्मारक बन गया है

11 टिप्पणियाँ:

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

are vaah parinaam bhi de diye...badhai ...

नरेश सिह राठौड़ ने कहा…

यंहा आके मजा आया | हा हा हा हा ...|

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

वाह ये तो नामानुसार पोस्ट है :)

नरेश सिह राठौड़ ने कहा…

आपका ब्लॉग शानदार जगह है | केवल एक कमी है जब चोरी की है तो चोरी वाली जगह का नाम भी लिख देना चाहिए | ताकि सभी को पता चले कि असली मालिक कौन है |

प्रकाश गोविन्द ने कहा…

ye kya kameenapan hai
kyun waat laga raha hai paheli ki ?
sirf chori hi kar
master na ban

दस्यु संदरी ने कहा…

वाह बेटा ई त बहुते अच्छा किये हो? अब तनि रामप्यारी के सवाल का जवाब भी बताय देवो।

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

लो कर लो बात अब बंटी जी तुमरे घर में बबली जी दरवाजा खट खटा रही है ...

रंजन ने कहा…

मुझे लगता था एक दिन ये होगा.. इतनी देर से हुआ इसका ताज्जुब है...

बंटी चोर ने कहा…

टिपण्णी देने में आप जैसे चाहे शब्दों का इस्तेमाल कर सकते है, अगर आप को बुरा लगा कि आप की रचना यहाँ पर मैंने चुरा कर अपने नाम से पोस्ट कर दी तो आप अपनी भड़ास यहाँ पर निकाल सकते है ... अगर गाली देने का मन कर रहा है तो रुकिए मत ... शुरू हो जाईये

Udan Tashtari ने कहा…

Majak apni jagah he lekin ek popular paheli ko is tarah ujagar kar aap kya sabit karna chahte he. Yah swartha galat he.

Mazak ko mazak hi rahne de, kripya kisi ke mehnat par paani fer kar vivad kaa karan na banaye,

बंटी चोर ने कहा…

उड़न तस्तरी जी की बात अपनी जगह सही है ... चलिए ....इसका भी हल कर देते है ...

एक टिप्पणी भेजें

1. टिपण्णी देने में आप जैसे चाहे शब्दों का इस्तेमाल कर सकते है,
आप अपनी भड़ास यहाँ पर निकाल सकते है ...
************************************************************
2. आप अपनी बात कहे, आपके द्वारा इस्तेमाल की गयी भाषा ही
आप का चरित्र उजागर करती है ...
************************************************************
3. आप लोगो से जैसी भाषा की उम्मीद करते है उसी भाषा में
अपनी बात कहे ...
************************************************************
4. Modration लगाने से आपकी कही बात दुसरो की समझ की
मोहताज ही जाती है ...
************************************************************
5. असभ्य भाषा की तिप्प्निया हटा दी जाएँगी यदि किसी को
कोई आपत्ति हो तो ..
************************************************************
6. Modration लगाने का फैसला आप के द्वारा किये गए कमेन्ट
पर निर्भर करता है ...

Back to Top